April 22, 2024

Mana Ki Bejuban Hu Lyrics | Jaisi Karni Waisi Bharni Lyrics

Mana Ki Bejuban Hu Lyrics | Jaisi Karni Waisi Bharni Lyrics

Mana Ki Bejuban Hu Lyrics | Jaisi Karni Waisi Bharni Lyrics Are Written By Daljit Arora. This Song Sung By Yakoob. Music Is Given By Ravi Jay

Song : Bezubaan
Lyrics : Daljit Arora
Music : Ravi Jay
Singer : Yakoob

Mana Ki Bejuban Hu Lyrics

English : Maana Ke Bezubaan Hu
Par Dil To Mere Paas Hai
Teri Tarah Aye Bande
Jeene Ki Mujhko Aas Hai

Maana Ke Bezubaan Hu
Par Dil To Mere Paas Hai
Teri Tarah Aye Bande
Jeene Ki Mujhko Aas Hai

Jo Hai Tera Khuda
Wo Hi Mera Khuda
Fir Kaise Kahun
Wo Hai Mujhse Juda

Aur Tere Liye Hi Khaas Hai

Maana Ke Bezubaan Hu
Par Dil To Mere Paas Hai
Teri Tarah Aye Bande
Jeene Ki Mujhko Aas Hai

Zindagi Meri
Faisala Tera
Kaise Rashmo Riwaaz Hai

Kaun Sa Dharm
Sikhaata Hai Ye
Kis Granth Ke Alfaaz Hai

Aankhe To Mila Aye Bande Bataa
Kya Hai Meri Khataa Ya Hai Tu Hi Khuda
Ye Soch Ke Man Udaas Hai

Maana Ke Bezubaan Hu
Par Dil To Mere Paas Hai
Teri Tarah Aye Bande
Jeene Ki Mujhko Aas Hai

Jaisi Karni
Waisi Bharni
Har Mazhab Ye Jaane

Kyun Khaate Ho
Maas Pashu Ka
Har Ek Me Jab Rab Maane

Na Julm Karo Maalik Se Daro
Chhodo Ye Karam Jhoothe Ye Bharam
Hame Karna Yahi Paryaas Hai

Maana Ke Bezubaan Hu
Par Dil To Mere Paas Hai
Teri Tarah Aye Bande
Jeene Ki Mujhko Aas Hai


Hindi : माना के बेजुबान हूं
पर दिल तो मेरे पास है
तेरी तरह ऐ बंदे
जीने की मुझको आस है

माना के बेजुबान हूं
पर दिल तो मेरे पास है
तेरी तरह ऐ बंदे
जीने की मुझको आस है

जो है तेरा खुदा
वो ही मेरा खुदा
फिर कैसे कहूँ
वो है मुझसे जुड़ा

और तेरे लिए ही खास है

माना के बेजुबान हूं
पर दिल तो मेरे पास है
तेरी तरह ऐ बंदे
जीने की मुझको आस है

जिंदगी मेरी
फैसला तेरा
कैसे रश्मो रिवाज है

कौन सा धर्म
सीखता है ये
किस ग्रंथ के अल्फाज है

आंखें तो मिला ऐ बंदे बता
क्या है मेरी खाता या है तू ही खुदा
ये सोच के मन उदास है

माना के बेजुबान हूं
पर दिल तो मेरे पास है
तेरी तरह ऐ बंदे
जीने की मुझको आस है

जैसी करनी
वैसी भरनी
हर मज़हब ये जाने

क्यों खाते हो
मास पशु का
हर एक में जब रब माने

न जुल्म करो मालिक से दरो
छोड़ो ये करम झूठे ये भरम
हमें करना यही प्रयास है

माना के बेजुबान हूं
पर दिल तो मेरे पास है
तेरी तरह ऐ बंदे
जीने की मुझको आस है

Yeh Ankhen Dekh Kar Lyrics