April 12, 2024

रो लेंण दे Ro Lain De Lyrics – Rocky Aur Rani Ki Prem Kahani

रो लेंण दे Ro Lain De Lyrics - Rocky Aur Rani Ki Prem Kahani

रो लेंण दे Ro Lain De Lyrics – Rocky Aur Rani Ki Prem Kahani Are Written By Amitabh Bhattacharya. This Song Sung By Sonu Nigam, Shilpa Rao. Music Is Given By Pritam. The Starring Of This Song Is Ranveer Singh, Alia Bhatt.

Song : Ro Lain De (रो लेंण दे)
Movie : Rocky Aur Rani Kii Prem Kahaani
Singer : Sonu Nigam, Shilpa Rao
Lyrics : Amitabh Bhattacharya
Music : Pritam
Label : Saregama

रो लेंण दे Ro Lain De Lyrics – Rocky Aur Rani Ki Prem Kahani

Ro Lain De Ranjheya Nu
Ik Heer Ton Hoke Juda
Ro Lain De Ro Lain De

Ro Lain De Mirzeya Nu
Ik Saahiba Ton Chhoot Ke
Ro Lain De Ro Lain De

Be-Dard Vichhoda Maare
Dass Dass Ke Nigoda Maare

Fariyaad Suni Haaye Rabba
Bichhdon Pe Karam Farma Re

Mehboob Ke Badle Duniya
Ke Be-matlab Sukh Saare

Aaye Kaam Dua Na Marham
Yeh Marz Bada Mehnga Re

Pee Lain De Hanjuan Nu
Do Nain Ton Behte Hain Jo

Pee Lain De Ro Lain De
Ro Lain De Ro Lain De

Mitti Ke Daaman
Mitti Ke Daaman Hai Toh
Kyun Premiyon Ke Dil Kaanch Ke

Jo Toot’te Hain
Jo Toot’te Hain Rabba
Tere Ishaaron Par Naach Ke

Jin Jin Ke Muqaddar Mein Bhi
Sang Rehna Nahi Likha Re

Ve Yaar Khudaya Unko
Mat Bewajah Milwa Re

Tujhe Ismein Maza Aata Ho
Bhale Kuchh Na Tera Jaata Ho

Par Khel Naseebon Ka Yeh
Apne Toh Nahi Baska Re

Jee Lain De Aashiqan Nu
Iss Khel Se Anjaan Hi
Jee Lain De

Ro Lain De Ranjheya Nu
Ik Heer Ton Hoke Juda

Ro Lain De Ro Lain De
Ro Lain De Ro Lain De

रो लैन दे Lyrics In Hindi

रो लैन दे रांझेय नू
एक हीर तों होके जुदा
रो लैन दे रो लैन दे

रो लैन दे मिर्ज़ेया नू
एक साहिबा तों छूट के
रो लैन दे रो लैन दे

बे-दर्द विछोड़ा मारे
डस डस के निगोड़ा मारे

फ़रियाद सुनी हाय रब्बा
बिछड़ों पे करम फरमा रे

महबूब के बदले दुनिया
के बेमतलब सुख सारे

आये काम दुआ न मरहम
ये मर्ज़ बड़ा महँगा रे

पी लैन दे हंजुआ नू
दो नैन तों बहते हैं जो

पी लैन दे रो लैन दे
रो लैन दे रो लैन दे

मिट्टी के दामन
मिट्टी के दामन हैं तो
क्यों प्रेमियों के दिल कांच के

जो टूटते हैं
जो टूटते हैं रब्बा
तेरे इशारों पर नाच के

जिन जिन के मुकद्दर में भी
संग रहना नहीं लिखा रे

वे यार खुदाया उनको
मत बेवजह मिलवा रे

तुझे इसमें मज़ा आता हो
भले कुछ न तेरा जाता हो

पर खेल नसीबों का ये
अपने तो नहीं बसका रे

जी लैन दे आशिक़ा नू
इस खेल से अनजान ही
जी लैन दे

रो लैन दे रंझेया नू
एक हीर तों होके जुदा

रो लैन दे रो लैन दे
रो लैन दे रो लैन दे